Abdul kalam Biography in Hindi | डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का प्रेरणादायी जीवन

apj kalam

Abdul kalam biography in hindi | ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जीवन परिचय

APJ Abdul Kalam को शायद ही कोई ऐसा हो जो नहीं जानता हो क्योंकि वो न केवल भारत के राष्ट्रपति रह चुके है परन्तु ऐसे राष्ट्रपति रहे है |

जिनकी छवि एक राजनेता से अधिक एक वैज्ञानिक के तौर पर रही है और उन्हें राष्ट्रपति से अधिक विज्ञान क्षेत्र में किये गये उनके योगदान की वजह से जाना जाता है |

और इसलिए हम उन्हें “ मिसाइल मेन “ के नाम से जाना जाता है तो चलिए इस कमाल के व्यक्तित्व की जिन्दगी के बारे में हम थोडा और जानते है और उनके जीवन से जुडी कुछ बातों पर चर्चा करते है|

abdul kalam biography in hindi
                                                                      Abdul kalam biography in hindi

APJ Abdul Kalam Biography in Hindi

APJ Abdul kalam की शुरूआती जिन्दगी के बारे में बात करें तो यह सामान्य से भी कुछ कम थी क्योंकि कलाम ऐसे परिवार में पैदा हुए थे जंहा उनके माता पिता ज्यादा पढ़े लिखे नहीं थे |

15 अक्टूबर 1931 को धनुषकोडी गाँव जो तमिलनाडु में स्थित है में एक मुस्लिम परिवार में जन्म लेने वाले APJ Abdul Kalam के पिता का नाम जैनुलाब्दीन था और वो खुद न तो अधिक पढ़े लिखे थे और ना ही उनके परिवार की आर्थिक हालत कुछ अधिक थी |

परिवार में भी कलाम खुद पांच भाई बहन थे | हालाँकि इतनी सीमित संसाधन होने के बाद भी परिवार के माहौल और पिता की मेहनत और लगन का कलाम के उस समय के जीवन और आने वाले समय पर बड़ा प्रभाव था |

वो शुरू से ही बहुत मेहनती थे और इसकी वजह थी उनके पिता  | उनके पिता की आय बहुत अधिक नहीं थी और अगर थी भी तो भी घर में बहुत से भाई बहन थे जिसके कारण एक अच्छे स्कूल में शिक्षा ले पाना उनके लिए सम्भव नहीं था |

कलाम के पिता नावों के मालिक थे और वो मछुआरों को नाव किराये पर दिया करते थे और साथ ही वो एक लोकल मस्स्जिद के इमाम भी थे | APJ Abdul Kalam अपने चार भाईयों में सबसे छोटे थे | कलाम की माता आशिमा गृहिणी थी |

abdul kalam biography in hindi
Abdul kalam biography in hindi

शिक्षा और वैज्ञानिक जीवन – APJ Abdul Kalam की शुरूआती शिक्षा उनके रामेश्वरम में ही स्थिति एक सरकारी स्कूल में हुई |

हालाँकि उनकी शुरुआत की शिक्षा के जीवन में भी बहुत सी कठिनाईयां थी और अपनी शिक्षा को जारी रखने के लिए उन्होंने अखबार बांटने का भी काम किया है |

कलाम के स्कूल के दिनों की बात करें तो उनके मार्क्स एवरेज आते थे लेकिन फिर भी वो बहुत मेहनत के साथ अपनी पढाई करते थे |

वो अपनी पढ़ाई के लिए घंटो मेहनत किया करते थे और इसलिए कहा जाता है कि उनमे सीखने की बहुत ललक थी | हम यह भी कह सकते है कि हो सकता है कलाम पढाई के साथ साथ अपने खर्चे चलाने के लिए काम किया करते थे|

इसी वजह से हो सकता है उनके मार्क्स पर इसका असर पड़ता हो लेकिन जो भी हो कलाम के सीखने की इच्छा की एक झलक उनके एक quote से हमने मिलती है वो है |

“यह मेरा पहला चरण था; जिसमें मैंने तीन महान शिक्षकों-डॉ विक्रम साराभाई, प्रोफेसर सतीश धवन और डॉ ब्रह्म प्रकाश से नेतृत्व सीखा। मेरे लिए यह सीखने और ज्ञान के अधिग्रहण के समय था। “

यह उन्होंने तब कहा था जब वो 1962 में वे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन से जुड़े । स्कूल की अपनी पढाई पूरी करने के बाद उन्होंने 1958 में Madras Institute of Technology से अपनी अंतरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में अपनी स्नातक की पढाई पूरी की |

इसके बाद उन्होंने  भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संस्थान में प्रवेश किया और हावरक्राफ्ट परियोजना में काम करने में अपना विशेष योगदान दिया |

abdul kalam biography in hindi
abdul kalam biography in hindi

इसके बाद जैसा कि हमने ऊपर बताया वो 1962 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन से जुड़े और वंहा पर उन्होंने कई उपग्रह प्रक्षेपण योजनाओं में अपना अभूतपूर्व योगदान दिया |

उनके योगदान को देखते हुए नहे परियोजना निदेशक बना दिया गया और परियोजना निदेशक के रूप में उन्हें भारत का पहला स्वदेशी तकनीक से तैयार किया गया उपग्रह एस.एल.वी. तृतीय बनाने का श्रेय मिला |

इसरो यानि  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन को अंतराष्ट्रीय क्लब में शामिल करने वाली योजनाओं को शिखर पर ले जाने का श्रेय इन्हें ही जाता है | APJ Abdul Kalam ने गाइडेड मिसाइल्स को डिजाइन किया था और इसलिए इन्हें मिसाईल मैन भी कहा जाता है | इन्होने ही अग्नि और पृथ्वी जैसी मिसाईल को स्वदेशी तकनीक से बनाया था |

कलाम जुलाई 1992 से दिसम्बर 1999 तक तत्कालीन रक्षा मंत्री के विज्ञानं सलाहकार और सुरक्षा शोध और विकास विभाग के सचिव भी रहे है |  उन्ही की देख रेख में भारत ने अपना दूसरा परमाणु परीक्षण 1998 में पोखरण में किया और परमाणु सम्पन्न राष्ट्रों की सूची में शामिल हो गया |

abdul kalam biography in hindi
Abdul kalam biography in hindi

राष्ट्रपति के तौर पर जीवन – APJ Abdul Kalam के राजनैतिक जीवन की बात करें तो उन्हें भारत का 11 राष्ट्रपति के तौर पर चुना गया | 18 जुलाई 2002 को कलाम को 90 प्रतिशत बहुमत के साथ देश के राष्ट्रपति के तौर पर चुना गया और इन्होने 25 जुलाई 2002 को शपथ ली |

हालाँकि कलाम राजनीतिक क्षेत्र के व्यक्ति नहीं थे लेकिन राष्ट्रपति बनने के बाद उनकी देश के राष्ट्रवादी सोच और नीतियों पर इनके विचारों के कारण आप इन्हें राजनीतिक दृष्टि से सम्पन्न मान सकते है |  

27 जुलाई 2015 की शाम को जब कलाम भारतीय प्रबंधन संस्थान शिलोंग में एक व्याख्यान दे रहे थे

तब उन्हें जोरदार दिल का दौरा पड़ा जिसे चिकित्सा विज्ञान की भाषा में कार्डियक अरेस्ट कहते है जिसकी वजह से ये बेहोश होकर गिर पड़े और फिर इन्हें  बेथानी अस्पताल में आईसीयू में शाम के करीब 6.30 बजे गंभीर हालत में लाया गया लेकिन डॉक्टर्स ने कहा कि

अब वो नहीं रहे क्योंकि जब उन्हें लाया गया तो उनका ब्लड प्रेशर और नब्ज साथ छोड़ चुके थे ”

यह सब इतना अचानक हुआ था कि सभी टीवी चैनल्स पर ब्रेकिंग न्यूज़ की तरह हो गयी थी क्योंकि उन्होंने जाने से एक दिन पहले ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी थी कि वो शिलोंग जा रहे है |

30 जुलाई 2015 को पूर्व राष्ट्रपति को राजकीय सम्मान के साथ रामेश्वरम के पी करूम्बु ग्राउंड में मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार दफना दिया गया |

उनके अंतिम संस्कार के समय करीब 3,50,000 लोगो ने भाग लिया था जिसमे प्रधानमंत्री मोदी सहित अनेक लोग थे |  

Interesting Facts about APJ Abdul Kalam – APJ Abdul Kalam के जीवन के बारे में कुछ ऐसी बातें है जो उनके जीवन को खास बनाती है हम उन्ही के बारे में कुछ बातें करते है –

  • कलाम ने एक समय पर अपनी पढाई को जारी रखने के लिए अखबार बाँटने का भी काम किया है |
  • 5 जुलाई 2002 को संसद भवन के अशोक कक्ष में इन्होने राष्ट्रपति पद के लिए शपथ ली |
  • कलाम की जीवनी “ विंग्स ऑफ़ फायर “ युवाओं को प्रेरित करने वाली एक शानदार किताब है जिसमें आप उनकी जिन्दगी के बारे में और भी बातें जान सकते है |
  • गाइडिंग सोल्स- डायलॉग्स ऑफ़ द पर्पज ऑफ़ लाइफ नाम की इनकी किताब है जो इनके आत्मिक विचारों से परिपूर्ण है |
  • दक्षिण कोरिया में कलाम की पुस्तकों की बहुत मांग है और उन्हें वंहा बहुत सम्मान के साथ देखा जाता है |
  • कमाल ने तमिल में बहुत सी कवितायेँ भी लिखी है |
  • हालाँकि APJ Abdul Kalam राजनीति के बैकग्राउंड से नहीं थे लेकिन फिर भी इंडिया 2020 में इनकी राजनीतिक दृष्टिकोण को बेहतर समझा जा सकता है |
  • कलाम भारत को परमाणु और विज्ञान के क्षेत्र में महाशक्ति बनना देखना चाहते थे |
  • कलाम कर्णाटक भक्ति संगीत को बेहद पसंद करते थे |
  • 2003 और 2006 में इन्हें “ एमटीवी यूथ आइकन ऑफ़ द इयर “ के तौर पर नामांकित किया गया |
  • इनकी मृत्यु के समय भारत सरकार ने 7 दिवस का राजकीय शोक घोषित किया था |
  • दलाई लामा ने इनकी मृत्यु को “ अपूर्णीय क्षति “ बताते हुए उनके निधन पर शोक व्यक्त किया |
  • कलाम के बेहद सज्जन और शालीन इन्सान थे वो एक  बेहतर वैज्ञानिक , शिक्षक और राजनेता थे |
  • कलाम अपने जीवन में बेहद अनुशासन पसंद करने वाले व्यक्ति थे और उनकी मौत पर देश में ही नहीं विदेशो से भी राजनेताओं ने अपनी प्रतिक्रिया दी |
  • कहा जाता है कि वो कुरान और गीता दोनों का अध्ययन किया करते थे और हिंदू संस्कृति भी उन्हें बहुत प्रिय थी |

Abdul kalam biography in hindi में उनके अनमोल विचारो पर प्रकाश डालेंगे ।

अब्दुल कलाम के अनमोल विचार  ( APJ Abdul Kalam in Hindi Thoughts )

APJ Abdul Kalam in Hindi Thoughts-1

  • यदि यक्ति चार बातो का पालन करे तो कुछ भी हासिल कर सकता है -एक महान उद्देश्य, ज्ञान प्राप्त करना, कड़ी मेहनत और दृढ़ता
  •  If four things are followed – having a great aim, acquiring knowledge, hard work, and perseverance – then anything can be achieved. 

APJ Abdul Kalam in Hindi Thoughts- 2

  • भारत को अपनी छाया पर चलना चाहिए – हमारे पास अपना विकास मॉडल होना चाहिए।
  • India should walk on her own shadow – we must have our own development model.

APJ Abdul Kalam in Hindi Thoughts- 3

  • अर्थव्यवस्था ने मुझे शाकाहारी बनने के लिए मजबूर किया, लेकिन अंत में मैं इसे पसंद करने लगा|
  • Economy forced me to become a vegetarian, but I finally started liking it.

APJ Abdul Kalam in Hindi Thoughts- 4

  • राष्ट्र लोगों से मिलकर बनता है। और उनके प्रयास से, कोई राष्ट्र जो कुछ भी चाहता है उसे प्राप्त कर सकता है।
  • Nations consist of people. And with their effort, a nation can accomplish all it could ever want.

APJ Abdul Kalam in Hindi Thoughts- 5

  • कृत्रिम सुख की बजाये ठोस उपलब्धियां बनाने के लिए अधिक समर्पित रहें।
  • Be more dedicated to making solid achievements than in running after swift but synthetic happiness.

APJ Abdul Kalam in Hindi Thoughts- 6

  •  भगवान, हमारे निर्माता ने हमारे मष्तिष्क और व्यक्तित्व में असीम शक्तियां और क्षमताएं दी हैं। प्रार्थना हमें इन शक्तियों को विकसित करने में मदद करती है।
  • God, our Creator, has stored within our minds and personalities, great potential strength and ability. Prayer helps us tap and develop these powers.

पुरस्कार और सम्मान( A.P.J. abdul kalam biography in hindi)

राष्ट्र और समाज के लिए किये गए कार्यो के आधार पर इनको अनेको पुरस्कारों से सम्मानित किया गया| लगभग 40 से 45  विश्वविद्यालयों ने कलम जी को डॉक्टरेट की उपाधि दी |

भारत सरकार ने इन्हे भारत के सबसे बड़े नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ से अलंकृत किया और इन्हे समय समय पर पद्म भूषण, पद्म विभूषण से भी नवाजा गया है |

आइये देखते है एपीजे अब्दुल कलाम  जी के कुछ पुरस्कार और सम्मान इस प्रकार से हैं

वर्ष

  • सम्मान
  •  संगठन / संस्थान
2014
  • डॉक्टर ऑफ साइंस
  • एडिनबर्ग विश्वविद्यालय
2012
  • डॉक्टर ऑफ़ लॉ ( मानद )
  • साइमन फ्रेजर विश्वविद्यालय
2010
  • डॉक्टर ऑफ़ इंजीनियरिंग
  • वाटरलू विश्वविद्यालय
2009
  • हूवर मेडल
  • ASME फाउंडेशन, संयुक्त राज्य अमेरिका
2009
  • अंतर्राष्ट्रीय करमन वॉन विंग्स पुरस्कार
  • कैलिफोर्निया प्रौद्योगिकी संस्थान , संयुक्त राज्य अमेरिका
2008
  • डॉक्टर ऑफ़ इंजीनियरिंग
  • नानयांग प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय , सिंगापुर
2007
  • साइंस की मानद डाक्टरेट
  • वॉल्वर हैम्प्टन विश्वविद्यालय , ब्रिटेन
1998
  • वीर सावरकर पुरस्कार
  • भारत सरकार
1997
  • राष्ट्रीय एकता के लिए इंदिरा गांधी पुरस्कार
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
1997
  • भारत रत्न
  • भारत सरकार
1994
  • विशिष्ट फेलो
  • इंस्टिट्यूट ऑफ़ डायरेक्टर्स (भारत)
1990
  • पद्म विभूषण
  • भारत सरकार
1981
  • पद्म भूषण
  • भारत सरकार

ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का निधन- A.P.J. abdul kalam in hindi

तो ये है APJ abdul kalam biography in hindi और हमसे hindi biography से जुडी update पाने के लिए आप हमे फेसबुक पर फॉलो कर सकते है या हमसे ईमेल सब्सक्रिप्शन ले सकते है साथ ही अपने किसी सवाल या सुझाव के लिए आप हमे ईमेल भी कर सकते है |

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*